कारोबारी के यहां मिली 250 करोड़ की संपत्ति

कारोबारी के यहां मिली 250 करोड़ की संपत्ति
#जमशेदपुर।आयकर विभाग ने तीसरे दिन गुरुवार को शहर के तीन कारोबारी पवन पोद्दार, चिंटू भालोटिया व बिल्डर चंदन मित्तल के यहां छापामारी की कार्रवाई पूरी कर ली। तीन दिनों के छापे में 250 करोड़ रुपए बेनामी संपत्ति में 100 करोड़ का काले धन का पता चला है। आयकर अधिकारियों के अनुसार प्रारंभिक जांच में पवन पोद्दार व चिंटू भालोटिया का 100 करोड़ रुपए काला धन पकड़ा गया है। छापामारी में कारोबारियों के 100 बैंक खाते व चार लॉकर सीज किए गए थे।
 #50 लाख रुपए नगद व आधा किलो सोना
कंपनियों की मशीनरी व संपत्तियों का आकलन करने के बाद 250 करोड़ रुपए कारोबार होने का अनुमान है। आयकर टीम को 50 लाख रुपए नगद, आधा किलो सोना, जमशेदपुर के कई क्षेत्रों में जमीन, फ्लैट व अपार्टमेंट में निवेश, शेयर में 30 करोड़ रुपए का निवेश समेत कई फर्जी कंपनियों के दस्तावेज हाथ लगे हैं। कई बैंक खाते फर्जी मिले। ये दूसरे के नाम पर खोले गए हैं। खाताधारक का नाम, पता व पैन कार्ड भी फर्जी निकले हैं।
डमी डायरेक्टर को पांच हजार रुपए मिलता था वेतन
कारोबारियों के मोबाइल भी जब्त हुए हैं। इस पर वॉट्सअप व मेल कर कई ट्रांजेक्शन की जानकारी मिली है। कोलकाता से आईटी एक्सपर्ट को बुलाकर ट्रांजेक्शन की जांच होगी। इधर, कारोबारियों का डमी डायरेक्टर विपिन कुमार गिरि तीसरे दिन भी नहीं आया, अलबत्ता आयकर अधिकारियों को यह जानकारी जरूर मिली 100 करोड़ का काला धन जमा करने वाली कंपनियों के डमी डायरेक्टर को पांच हजार रुपए मासिक वेतन मिलते थे। गिरि फरार है। एक और डमी डायरेक्टर नीतेश पांडेय का भी नाम आया है। विभाग को उनकी तलाश है। गिरि की पत्नी बबिता देवी ने अधिकारियों काे बताया उनके पति लार्ड बालाजी कंपनी में कर्मचारी हैं। उन्हें पांच हजार वेतन मिलता है। आयकर विभाग की 11 टीमों के 100 अफसर 23 अगस्त से तीन कारोबारियों के यहां जांच कर रहे थे।
आयकर विभाग की 11 टीमों के 100 अफसर 23 अगस्त से कर रहे थे जांच जहां कंपनी का पता बताया, वहां डांस क्लास
भालोटिया व पोद्दार की शहर में आधा दर्जन व कोलकाता में एक कंपनी कागजों पर चल रही है। आयकर अधिकारियों के अनुसार शहर में तीन फर्जी कंपनियां बनाई, इसमें शिवम मेटकॉम, कृष्णा मेटकॉम व नरसिंह मेटकॉम शामिल हैं। कंपनियों का रजिस्टर्ड पता सोनारी के एएम प्लाजा अपार्टमेंट के फ्लैट का था, जो शरत पोद्दार का है। आयकर टीम उस वक्त भौंचक रह गई, जब कंपनी के रजिस्टर्ड पते पर पहुंची। वहां डांस क्लास चल रहा था।
कोलकाता, दिल्ली व रांची में भी मिली संपत्ति
जुगसलाई के व्यापारी चिंटू भालोटिया ने काले धन का निवेश दिल्ली, गाजियाबाद, कोलकाता व रांची में फ्लैट की खरीदारी में किया है। सीएच एरिया निवासी पवन पोद्दार व उनके बेटे शरत पोद्दार के नाम पर बिष्टुपुर कांट्रेक्टर्स एरिया, सोनारी, मानगो, आदित्यपुर आदि स्थानों पर फ्लैट व अन्य क्षेत्र में निवेश के सबूत मिले हैं। आयकर टीम ने सभी दस्तावेज जब्त कर लिया है।
फर्जी कंपनी चलाते हैं कारोबारी
आयकर टीम गुरुवार को बिष्टुपुर स्थित आरके दुआ के कार्यालय पहुंची। अधिकारियों ने उनसे पोद्दार व भालोटिया की कंपनियों व कारोबार से संबंधित जानकारी मांगी। सीए ने बताया कारोबारी फर्जी कंपनी चलाते हैं। उन्हाेंने बोगस निवेश किया है।
अन्य खबरों के लिए पढ़ें: National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Related Posts:

You must be logged in to post a comment Login