डीआइजी विकास वैभव के निर्देश पर एसएसपी मनोज कुमार ने किया ललमटिया थानाध्यक्ष को निलंबित

डीआइजी विकास वैभव के निर्देश पर एसएसपी मनोज कुमार ने किया ललमटिया थानाध्यक्ष को निलंबित

डीआइजी विकास वैभव के निर्देश पर एसएसपी मनोज कुमार ने किया ललमटिया थानाध्यक्ष को निलंबित

भागलपुर : टेम्पो रिलीज करने के नाम पर पीड़ित से नजराना मांगना एक और दारोगा और ए एस आई को महंगा पड़ा। कर्तव्यहीनता के आरोप में भागलपुर रेंज डी आई जी विकाश वैभव के निर्देश पर एसएसपी मनोज कुमार द्वारा गुरुवार को ललमटिया थानाध्यक्ष रीता कुमारी और इसी थाना के ए एस आई मुकेश कुमार सिंह को निलंबित कर दिया।

इनपर वेवजह 26 दिन तक ऑटो को जब्त कर थाने में रखने और ऑटो को रिलीज करने के नाम पर पैसा मांगने का आरोप है।नाथनगर के नवटोलिया निवासी रामवृक्ष मण्डल 24 अप्रैल को दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।इस मामले में सुलह के बाद भी बिना प्राथमिकी के 26 दिनों के बाद भी 26 दिनों तक ऑटो को थाने में जब्त रखा गया।

जानकारी के अनुसार इस मामले को लेकर फरियादी नाथनगर के नवटोलिया निवासी रामवृक्ष मण्डल ने गुरुवार को डी आई जी कार्यालय में जाकर उनसे मुलाकात कर ललमटिया पुलिस के खिलाफ शिकायत की।फरियादी ने ललमटिया पुलिस पर आरोप लगाया की 26 दिन पहले पुलिस ने उनका ऑटो जब्त की थी।लेकिन कई बार मिलने के बाबजूद पोलिसेवाले बिना प्राथमिकी के उनकी जब्त टेम्पो को रिलीज नहीं कर रहे थे।

डी आई जी के समक्ष फरियादी ने ललमटिया थानाध्यक्ष रीता कुमारी और ए एस आई मुकेश कुमार सिंह ने ऑटो रिलीज करने के नाम पर उनसे 50 हजार रूपये की मांग की थी।फरियादी ने डी आई जी को बताया की पुलिस को नजराना नहीं देने के कारण उनका ऑटो अब तक थाना में हीं पड़ा हुआ है।

रामवृक्ष ने कहा की उनकी कमाई का एक मात्र टेम्पो चलाना हीं है।मगर 26 दिनों से ऑटो थाना में रहने की वजह से उनकी कमाई का कोई भी जरिया नहीं रहा।फरियादी श्री मण्डल ने डी आई जी को बताया की वह विगत 24 अप्रैल को टेम्पो लेकर नाथनगर से भागलपुर की ओर जा रहा था।इसी दौरान पीछे से सुलतानगंज की ओर से तेज गति से आ रही एक अन्य ऑटो ने धक्का मार दिया।जिससे उनकी गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गयी थी।और पुलिस ने उसकी ऑटो को जब्त कर ली थी।

रामवृक्ष ने बताया की वह 24 अप्रैल से रोजाना ललमटिया थाना जाता है।लेकिन उसे कोई न कोई बहाना बनाकर भगा दिया जाता है।उन्होंने बताया की 17 मई को ऑटो रिलिज कराने के ललमटिया थाना गया तो उससे थाना के ए एस आई मुकेश कुमार सिंह ने टेम्पो रीलिंज करने के नाम पर 50 हजार रूपये की मांग की।

रामवृक्ष का कहना है की 24 अप्रैल से अब तक न तो थानाध्यक्ष ने प्राथमिकी दर्ज की और न ही ऑटो रिलीज किया।फरियादी की बात सुनकर डी आई जी ने आरोप को गम्भीर मानते हुए थानाध्यक्ष को प्रथम दृष्टया दोषी पाया।डी आई जी ने कहा की जिस जुर्म में ऑटो को थाना लाया गया।उसी जुर्म में प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए थी। बाद में अनुसन्धान में मामले की सत्यता देखी जाती।

थानाध्यक्ष व ए एस आई का यह काम उनकी कर्तव्यहीनता को दर्शाता है।साथ ही पीड़ित के आरोप की पुष्टि करता है।डी आई जी ने तुरन्त इस मामले को लेकर एसएसपी मनोज कुमार को कार्रवाई करने का निर्देश दिया।वहीं डी आई जी के निर्देश पर एसएसपी ने ललमटिया थानाध्यक्ष और ए एस आई को निलंबित कर दिया।

अन्य खबरों के लिए पढ़ेंNational | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

Related Posts:

You must be logged in to post a comment Login