PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा मनमोहन सिंह से दोगुनी,

PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा मनमोहन सिंह से दोगुनी,

narendra_modi_security-650_082914075253

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा उनके पूर्ववर्ती प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तुलना में दोगुनी है. यह व्यवस्था स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) कमांडो और सुरक्षा काफिला दोनों ही स्तर पर की गई है.

नाम न बताने की शर्त पर दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘सीधा-सा कारण है, ऐसा आतंकी संगठनों से मिल रही धमकियों के मद्देनजर किया गया है. इससे पहले राजीव गांधी को भी ऐसी ही धमकियां मिली थीं.’ उन्होंने कहा कि खुफिया एजेंसियों को लगातार नरेंद्र मोदी की जान को खतरे के अलर्ट मिल रहे हैं, इसी के मद्देनजर उनकी सुरक्षा पुख्ता की गई है.

नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में विभिन्न घेरों के तहत एक हजार से ज्यादा कमांडो तैनात हैं, जबकि मनमोहन सिंह के आंतरिक सुरक्षा घेरे में लगभग 600 सुरक्षाकर्मी ही थे. मोदी की सुरक्षा को और पुख्ता बनाने की योजना तैयार करने के लिए एसपीजी और दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनकी सुरक्षा की समीक्षा की.

अधिकारी ने कहा, ‘जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, दिल्ली पुलिस को एक दर्जन से ज्यादा खुफिया सूचनाएं मिल चुकी है, जिसके अनुसार वे आतंकियों के निशाने पर हैं.’ उन्होंने कहा, ‘राजीव गांधी के अलावा किसी अन्य प्रधानमंत्री की जान को इतना खतरा नहीं था.’

नरेंद्र मोदी अति सुरक्षा वाली बुलेटप्रुफ बीएमडब्ल्यू 7 में सफर करते हैं. उनके काफिले में साथ-साथ ऐसी ही दो डमी कारें चलती हैं, ताकि हमलावर को भ्रमित किया जा सके. जबकि मनमोहन सिंह के काफिले में केवल एक ही डमी बीएमडब्ल्यू कार चलती थी. प्रधानमंत्री के सात रेसकोर्स रोड स्थित आवास में एसपीजी के 500 से ज्यादा कमांडो तैनात रहते हैं.

सूत्रों ने बताया कि मोदी के काफिले में चलने वाली कारों की एसपीजी अच्छी तरह जांच करती है. इसके अलावा एक जैमर, एक एंबुलेंस और दिल्ली पुलिस की जिप्सियां हमेशा उनके काफिले के आगे और पीछे चलती हैं.

You must be logged in to post a comment Login