बिहार: मुंगेर के निरंजनानंद सरस्वती को मिलेगा पद्मभूषण पुरस्कार

बिहार: मुंगेर के निरंजनानंद सरस्वती को मिलेगा पद्मभूषण पुरस्कार

केंद्र सरकार ने पदम् पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। साथ ही इस बार किसी को भारत रत्न नही मिला है। पर बिहार के खाते में दो पदम अवार्ड आय हैं। #मुंगेर के बिहार योग विद्यालय से जुड़े स्वामी #निरंजनानंद_सरस्वती को पद्म भूषण और #मधुबनी की #बऊआ_देवी को आर्ट एंड पेंटिंग में पद्मश्री का अवार्ड देने की घोषणा किया है।

इसके अलावे झारखंड के वरिष्ठ पत्रकार बलवीर दत्त को भी साहित्य और पत्रकारिता के लिए पद्म श्री का अवार्ड दिया गया है।

स्वामी निरंजनानंद सरस्वती, सत्यानन्द सरस्वती के शिष्य एवं उत्तराधिकारी हैं। स्वामी सत्यानन्द सरस्वती ने सत्यानन्द योग का प्रवर्तन किया था। स्वामी सत्यानन्द ने सन् १९८८ में सम्पूर्ण विश्व के सत्याननद योग से सम्बन्धित कार्यों के समन्वय का कार्य स्वामी निरंजनानन्द को सौंप दिया था।

स्वामी निरंजनान्द का जन्म मध्य प्रदेश के राजनादगांव में हुआ था। उनके शिष्य उन्हें आजन्म योगी मानते हैं। बऊआ देवी ने मधुबनी पेंटिंग को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दी है। बऊआ देवी की पेंटिंग की ख्याति पूरी दुनिया में है। मधुबनी में जन्मी बऊआ देवी की बड़ी प्रसिद्धी है। इन्हें पद्मश्री के अवार्ड मिलने की घोषणा से मधुबनी के लोगों में खुशी फ़ैल गयी है।

बधाइयों का तांता शुरू हो गया है। माना जा रहा है कि इस अवार्ड के बाद बऊआ देवी मधुबनी पेंटिंग को और ख्याति दिलाने के लिए बड़े स्तर पर काम करेंगी।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login