भारत संग अच्छे संबंध बनाए: शरीफ

भारत संग अच्छे संबंध बनाए: शरीफ

nawaz

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पड़ोसी देश भारत के साथ खराब संबंधों को लेकर खेद प्रकट करते हुए कहा है कि अब समय आ गया है कि हम नई दिल्ली के साथ अच्छे संबंध कायम करें।

इस्लामाबाद में राष्ट्रीय सुरक्षा सम्मेलन को संबोधित करते हुए नवाज शरीफ ने इस बात के लिए असंतोष प्रकट किया कि पड़ोसी देशों के साथ हमारे देश के संबंध अच्छे नहीं हैं। इस सम्मेलन में राज्यों के मुख्यमंत्रियों, प्रमुख पार्टियों के नेताओं के अलावा सेना प्रमुख जनरल रहील शरीफ, आइएसआइ के प्रमुख जहीरूल इस्लाम और सैन्य व सिविल सेवा के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

नवाज शरीफ ने भारत का नाम लेते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि हम अपने इस पड़ोसी देश के साथ बेहतर और अच्छे संबंध कायम करें। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देशों के बीच विदेश सचिव स्तर की वार्ता से इसका रास्ता खुलेगा।

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि उनका देश अफगानिस्तान सहित अन्य पड़ोसी देशों के साथ भी अच्छे संबंध कायम करना चाहता है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में नई सरकार इस काम में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है। शरीफ ने उनकी सरकार को चुनौती देने के लिए ताहिर-उल-कादरी जैसे कंट्टरपंथी नेता की कड़ी आलोचना की।

शरीफ ने पूर्व क्रिकेटर और तहरीक ए इंसाफ के प्रमुख इमरान खान को शांति प्रस्ताव देते हुए कहा कि सरकार कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में मतपत्रों की गणना दोबारा करवाकर हेराफेरी के आरोपों को निपटाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि ऐसे वक्त में जबकि सेना उत्तरी वजीरिस्तान में आतंकियों से लड़ रही है, देश राजनीतिक विरोध नहीं झेल सकता। इमरान खान ने 14 अगस्त को इस्लामाबाद में सरकार विरोधी रैली का आह्वान किया है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि देश का आर्थिक नजरिया बदल रहा है। उन्होंने देश में व्याप्त ऊर्जा संकट और आतंकवाद से निपटने का भरोसा दिलाया। बाद में, सैन्य नेतृत्व ने नेताओं को अशांत उत्तरी वजीरिस्तान कबीलाई क्षेत्र में आतंकियों के सफाए के लिए 15 जून से चल रहे अभियान की जानकारी दी।

You must be logged in to post a comment Login