पहचानते ही भागने लगे दुकानदार, भेस बदलकर निकले थे IAS

पहचानते ही भागने लगे दुकानदार, भेस बदलकर निकले थे IAS

एसडीओ भोर सिंह यादव ने शुक्रवार की सुबह भेस बदलकर कचहरी में छापेमारी की। गले में तौलिया बांधे और पैरों में हवाईचप्पल पहने एसडीओ को उनके बदले भेस के कारण कोई पहचान भी नहीं पाया। एसडीओ यहां आधे घंटे तक विभिन्न स्टांप दुकानों में गए और कम मूल्य के स्टांप की मांग की। इसके लिए वेंडरों ने उनसे डबल पैसे मांगे। एसडीओ को समझा आम आदमी…

  • एसडीओ भोर सिंह यादव को उनके भेसभूषा के कारण सबने साधारण आदमी समझ लिया।
  • स्टांप वेंडरों ने पहले उनसे कहा कि उनके पास स्टांप ही नहीं है।
  • फिर बताया कि पांच सौ रुपए से कम के स्टांप किसी के पास नहीं हैं।
  • इसके बाद भी एसडीओ डटे रहे, तब वेंडरों ने कहा कि 10 रुपए का स्टांप 50 रुपए में मिलेगा।

वेंडर ने कहा – लेना है तो लो, नहीं ताे निकलो:

  •  वेंडरों ने सीधे कह दिया कि अगर लेना है तो लो, नहीं तो यहां से निकलो।
  • इसके बाद एसडीओ ने काफी मिन्नत की तो 10 रुपए का स्टांप 40 रुपए में देने पर बात बनी।
  •  एसडीओ यहां से निकल कर दूसरे वेंडर के पास पहुंचे, जिसने स्पष्ट कहा कि कम राशि का स्टांप है ही नहीं।

दलाल ने तुरंत लाकर दिए 20 रुपए के स्टांप:

  • इसके बाद एसडीओ ने वहां घूम रहे एक दलाल को पकड़ा। उसे सौ रुपए का नोट दिया और स्टांप की मांग की। कुछ ही देर में उसने कहीं से 20 रुपए का स्टांप लाकर एसडीओ को दे दिया।
  • फिर क्या था, एसडीओ की टीम ने दलाल समेत वेंडरों को भी धर- दबोच लिया। ऐसा होता देख पूरे कचहरी कैंपस में हड़कंप मच गया। दूसरे वेंडर अपनी दुकानें बंद कर भागने लगे।
  • एसडीओ की टीम में आईएएस अंजलि यादव, रजिस्ट्रार राहुल कुमार चौबे, कार्यपालक दंडाधिकारी राजेश कुमार भी शामिल थे तो कैंपस में अलग-अलग फैले हुए थे।

रद्द करेंगे वेंडरों के लाइसेंस : एसडीओ

  • छापेमारी के बाद एसडीओ भोर सिंह यादव ने कहा कि स्टांप की कहीं कोई कमी नहीं है।
  • कम राशि के स्टांप सबके पास हैं, लेकिन वेंडर जानबूझकर इसकी कमी बताते हैं।
  • ऐसा कर वे इसे महंगे दामों में बेचते हैं। इस कारण कई वेंडरों की अटैची जब्त कर ली गई है।
  • इनके पास से काफी मात्रा में 10, 20 और 50 रुपए के स्टांप मिले हैं।
  • इन सभी के लाइसेंस रद्द किए जाएंगे।

2014 बैच के IAS हैं भोर सिंह यादव:

  • भोर सिंह यादव वर्ष 2014 बैच के आईएएस ऑफिसर हैं।
  • ये बनारस के रहने वाले हैं। ट्रेनिंग के बाद लौटे तो 31 अक्टूबर 2016 को इनकी पोस्टिंग गुमला एसडीओ के रूप में हुई।
  • गुमला से 06 दिसंबर 2016 को इनका ट्रांसफर खूंटी हुआ। खूंटी के बाद इनकी पोस्टिंग रांची हुई।
  • प्रोबेशन पीरियड में भोर सिंह यादव की पोस्टिंग दुमका में थी।
  • इनकी वाइफ अंजलि यादव भी आईएएस हैं और झारखंड में ही पोस्टेड हैं।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login