पति व पिता की अनबन से आजिज महिला ने खाया जहर, होश आते ही पति की जमकर पिटाई

पति व पिता की अनबन से आजिज महिला ने खाया जहर, होश आते ही पति की जमकर पिटाई

पति व पिता की पिटाई से आजिज महिला ने जहर खाने का प्रयास किया। आनन-फानन में उसे एमजीएम कॉलेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जब उसे होश आया तो पति पास खड़े मिल गए। फिर क्या था, वह पति पर बरस पड़ी। जब तक लोग कुछ समझते महिला ने अपना आपा खो दिया और पति की जमकर पिटाई कर दी। अस्पताल में भीड़ ने जब पति को पकड़ना चाहा तो वह जान बचाकर वहां से भाग गया।

तुरियाबेड़ा निवासी पूर्णिमा कुमारी ने गुरुवार की सुबह जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। उसे गंभीर स्थिति में पड़ोसी ने उसकी छोटी बहन अंजली कुमारी की मदद से एमजीएम अस्पताल में भर्ती करवाया। दिनभर इलाज करने के बाद डॉक्टर ने उसे गुरुवार की शाम छुट्टी दे दी है। घटना की सूचना पाकर भाजपा के नेता एमजीएम अस्पताल पहुंचे और पूर्णिमा कुमारी से जानकारी हासिल की। वहीं पुलिस ने अस्पताल में ही पूर्णिमा से बयान भी लिया।

पूर्णिमा कुमारी ने बताया कि वह तरुण कुमार से शादी करना चाहती थी। लेकिन बेरोजगार होने के कारण तरुण ने एमजीएम थाना में पुलिस के सामने ही उससे शादी करने से इन्कार कर दिया था। इसके बाद उसके (पूर्णिमा) के पिता ने उसकी शादी जबरन हजारीबाग निवासी अजीत सिंह से 20 अप्रैल को कर दी। वह अजीत सिंह को पसंद नहीं करती थी। इसके बावजूद उसकी जबरन उससे शादी करवाई गई।

फिर वह अपने ससुराल हजारीबाग चली गई। जहां प्रतिदिन शराब के नशे में अजीत उसकी पिटाई किया करता था। वह अजीत से कहती थी कि वह उसे छोड़ दे। वह उसके साथ रहना नहीं चाहती है। इसको लेकर भी अजीत उसकी पिटाई किया करता था।

परीक्षा देने के लिए आई थी मायके:

पूर्णिमा कुमारी ने बताया कि वह वर्कर्स कॉलेज की इंटर की छात्र है। परीक्षा देने के लिए ससुराल से मायके आई थी। उसकी परीक्षा चल रही है। पति भी उसके साथ मायके आया है। लेकिन प्रतिदिन वह शराब के नशे में उसकी पिटाई किया करता था। पिता रतन पांडेय से शिकायत करती थी तो पिता भी उसकी पिटाई करता था। रोज रोज की कलह से वह तंग आ गई थी। इस कारण उसने गुरुवार की सुबह उसने घर में रखा कीटनाशक खाकर आत्महत्या का प्रयास किया।

पड़ोसी रंजन शर्मा ने बताया कि तीन दिनों से पूर्णिमा के घर में मारपीट व हल्ला गुल्ला चल रहा था। बुधवार की रात भी पूर्णिमा के साथ मारपीट की गई थी। जिसके कारण वह बेहोश हो गई थी। पूर्णिमा की मां रेखा देवी रात को उसे बुला कर ले गई। कुछ देर के बाद पूर्णिमा को होश आया था लेकिन फिर से पूर्णिमा के साथ मारपीट शुरू हो गई।

पूर्णिमा ने की थी मंत्री सरयू राय से शिकायत:

पूर्णिमा ने दो माह पहले मंत्री सरयू राय से शिकायत की थी। इसमें उसने कहा था कि उसकी शादी जबरन अजीत सिंह से उसके पिता करवाना चाह रहे हैं। जब उसने शादी से इन्कार कर दिया तो पिता उसकी छोटी बहन अंजली को रांची ले गये थे, अजीत से शादी करवाने के लिए। मंत्री के कहने पर रांची पुलिस सक्रिय हुई थी और अंजली व उसके पिता को रांची से पकड़कर एमजीएम थाना लाये थे।\

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login