मिलि कोर्ट से राहत पूर्व स्वास्थ्य व ऊर्जा मंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह को

मिलि कोर्ट से राहत पूर्व स्वास्थ्य व ऊर्जा मंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह को

राज्य के पूर्व स्वास्थ्य व ऊर्जा मंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह को हाइकोर्ट से अंतरिम राहत मिल गयी| हाइकोर्ट के जस्टिस अनंत बिजय सिंह की अदालत ने शुक्रवार को राजेंद्र सिंह की अोर से दायर अग्रिम जमानत याचिका (एबीए) पर सुनवाई की| उनके खिलाफ किसी भी प्रकार की उत्पीड़क कार्रवाई करने पर रोक लगा दी| निगरानी को केस डायरी प्रस्तुत करने का निर्देश दिया|

 मामले की अगली सुनवाई के लिए पांच जुलाई की तिथि निर्धारित की| अदालत ने उक्त निर्देश प्रार्थी की दलील सुनने के बाद दिया| प्रार्थी की अोर से अदालत को बताया गया कि उनका ब्रेन हेमरेज का इलाज दिल्ली के एम्स में चल रहा है| अभी भी एक माह से अधिक समय लगेगा| निगरानी की अोर से अधिवक्ता टीएन वर्मा ने अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया|

उन्होंने कहा कि आरोपी को कई बार नोटिस दिया गया, लेकिन अपना पक्ष रखने के लिए वे कभी निगरानी के समक्ष उपस्थित नहीं हुए| उल्लेखनीय है कि रिनपास निदेशक का प्रभार डॉ अमोल रंजन सिंह को दिया गया, जिसे नियम विरुद्ध बताया गया|

डॉ अमोल के पास निदेशक पद की अर्हता भी नहीं थी| वित्तीय घोटाले का भी आरोप लगाया गया| निगरानी ने इस मामले की जांच कर तत्कालीन मंत्री हेमलाल मुरमू, राजेंद्र प्रसाद सिंह, तत्कालीन प्रधान सचिव बीके त्रिपाठी, डॉ अमोल रंजन सिंह, डॉ एके नाग सहित 14 लोगों को आरोपी बनाया है|

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login