इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट हुआ डिजिटल

इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट हुआ डिजिटल

इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट हुआ डिजिटल#नैसकॉमफाउंडेशन ने #इंडियपब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट-#आईपीएलएम नाम से देश के 22 राज्यों के 100 से अधिक जिलों में एक पहल की है। संस्था का कहना है कि यह आंदोलन देश में सार्वजनिक पुस्तकालय क्षेत्र को पुनर्जीवित करने के लिए इससे जुड़े सभी पक्षों को एक ही मंच पर लाने की कोशिश है।

संस्था ने कहा है कि उसका प्रयास देशभर के विभिन्न समुदायों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें ज्ञान एवं जानकारी साझा करने वाले केंद्रों में साथ लाना है।

आईपीएलएम ने इस प्रक्रिया के लिए कई प्रख्यात संगठनों जैसे एमएसएसआरएफ, प्रजयत्ना, केईडीईएस, डीइएफ आदि के साथ भी साझेदारी की है।

इस पहल को आगे बढ़ाने के लिए हाल ही में इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम ‘द बिगिनिंग’ का आयोजन किया। विभिन्न उपायों के द्वारा सार्वजनिक पुस्तकालयों की स्थिति को फिर से सशक्त बनाना और इसके लिए उपयुक्त साझेदारियां करना इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य था।

विभिन्न हितधारकों को इस मंच के साथ जोड़ने के लिए डिजिटलीकरण तथा प्रोद्यौगिकी उन्मुख सेवाओं पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित किया गया।

इस पहल के माध्यम से आईपीएलएम मौजूदा परिवेश के अनुसार, भारतीय सार्वजनिक पुस्तकालों में बदलाव लाने की सरकार की पहल को समर्थन प्रदान करेगा। कार्यक्रम के दौरान आईपीएलएम एडवाइजरी के चेयरमैन पी. जयराजन ने पुस्तकालय समुदाय के लिए एप एवं वेबपोर्टल भी लांच किया।

केंद्र सरकार में संस्कृति मंत्रालय के सचिव एन. के. सिन्हा ने एप एवं वेब पोर्टल लांच किया, जिसके बाद इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी कॉन्फ्रेंस की ओर से एक विस्तृत रिपोर्ट जारी की, जिसमें सार्वजनिक पुस्तकालय डोमेन में मौजूद विभिन्न अवसरों और चुनौतियों पर प्रकाश डाला गया है।

इस मौके पर पी. जयराजन ने कहा, “इंडियन पब्लिक लाइब्रेरी मूवमेंट अब तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। हमारे साझेदारों की सक्रियता इस पहल को बढ़ावा देने में मदद कर रही है तथा राष्ट्र निर्माण के प्रति उन्मुख विभिन्न कार्यक्रमों को अपना पूरा सहयोग प्रदान कर रही है। भारतीय सार्वजनिक पुस्तकालयों का रूपांतरण देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।”

सभा को संबोधित करते हुए नैसकॉम फाउंडेशन के सीईओ श्रीकांत सिन्हा ने कहा, “भारतीय सार्वजनिक पुस्तकालयों के रूपांतरण में योगदान देना नैसकॉम फाउंडेशन एवं अन्य हितधारकों के लिए गर्व की बात है। इस एप और वेबसाईट के लांच के साथ, हमारा यह कदम हमारी जिंदगियों में पुस्तकालयों की भूमिका को एक बार फिर से बढ़ाएगा।”

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login