‘डिजिटल संगठन’ को अहम मानते हैं 92 फीसदी भारतीय कारोबारी

‘डिजिटल संगठन’ को अहम मानते हैं 92 फीसदी भारतीय कारोबारी

डिजिटल बदलाव की रणनीति में #क्लाउड_कंप्यूटिंग को अहम कारक के तौर पर देखने के मामले में #भारतीय_कारोबारी एशियाई समकक्षों से तो आगे हैं ही, इसके साथ ही 92 प्रतिशत कारोबारियों का मानना है कि कारोबार बढ़ाने के लिए प्रत्येक संगठन को #डिजिटल_संगठन के तौर पर सक्षम बनाने की जरूरत है।

माइक्रोसॉफ्ट एशिया डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन सर्वेक्षण-2016 में इसका खुलासा हुआ है। सर्वेक्षण से पता चला है कि भारत में इस मामले में वे एशिया के औसत 80 प्रतिशत से कहीं आगे हैं।

भारतीय प्रतिभागियों के बीच कारोबार में बदलाव की रणनीति के लिए प्रासंगिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) को महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकी के तौर पर देखा गया। 88 प्रतिशत भारतीय प्रतिभागियों का मानना था कि क्लाउड कंप्यूटिंग और उपकरणों की घटती लागत ने सभी आकार की कंपनियों तक आधुनिक प्रौद्योगिकी की पहुंच सुलभ की है और उन्हें प्रतिस्पर्धा का लाभ मिल रहा है। इस मामले में वे पूरे एशिया के औसत 81 प्रतिशत से आगे हैं।

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के अध्यक्ष अनंत माहेश्वरी का कहना है, “यह अभूतपूर्व सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन ला रहा है और संगठनों को प्रासंगिक बने रहने के लिए इस बदलाव को आत्मसात करने की आवश्यकता है।”

सर्वे के नतीजों पर अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप की संयुक्त प्रबंध निदेशक संगीता रेड्डी ने कहा, “अपोलो हॉस्पिटल्स डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के लिए प्रतिबद्ध है, जो मरीज केंद्रित, यूजर्स के अनुकूल देखभाल और स्वास्थ्य प्रक्रियाओं में बदलाव लाने के लिए सर्वोत्तम सूचना एवं चिकित्सा प्रौद्योगिकी को जोड़ती है।”

उन्होंने कहा, “इसके साथ ही 24 घंटे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं मुहैया कराने के लिए हम कनेक्टिविटी, मोबिलिटी डिवाइसेज और प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करते हैं, जिससे उच्चतम दक्षता और सुरक्षा स्तर सुनिश्चित होता है।”

सुरक्षा की जरूरत पर हैवल्स इंडिया के मुख्य सूचना अधिकारी सचिन गुप्ता ने कहा, “इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) भविष्य नहीं रह गया है, बल्कि यह वर्तमान है और यह हमारे इर्द-गिर्द ही है। अगली पीढ़ी की टेक्नोलॉजिज जैसे माइक्रोसॉफ्ट यूजर को अपनाना सही मायने में उद्योग का डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन है और मजबूत साइबर सुरक्षा प्रारूप भी इसका एक आवश्यक पहलू है। माइक्रोसॉफ्ट के साथ गठजोड़ कर हम काफी उत्साहित हैं।”

सर्वेक्षण में शामिल कारोबारी लीडर्स एशिया पैसिफिक के 13 देशों के मझोले और बड़े संगठनों में कार्यरत हैं। भारतीय प्रतिभागियों में मुख्य कार्याधिकारियों और उसके बाद मुख्य डिजिटल अधिकारी शामिल हुए।

अन्य खबरों के लिए पढ़ेंNational | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login