जालसाजी कर 21.5 लाख के पुराने नोट बदले, डाक अधीक्षक सहित चार पर प्राथमिकी

जालसाजी कर 21.5 लाख के पुराने नोट बदले, डाक अधीक्षक सहित चार पर प्राथमिकी

सीबीआइ ने धनबाद के डाक अधीक्षक(आरएमएस), सेवानिवृत्त जेल अधिकारी सहित चार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है| नोटबंदी के दौरान अपने परिजनों व अन्य के नाम पर खाता खोल कर पुराने नोटों को बदलने का आरोप इन पर लगाया गया है|

नोटबंदी से जुड़े मामले में सीबीआइ द्वारा दर्ज की गयी यह पहली प्राथमिकी है| सीबीआइ के डीएसपी बीके सिंह की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है| प्रारंभिक जांच के दौरान पाये गये तथ्यों के आधार पर अभियुक्तों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है|

जांच में पाया गया कि डाक अधीक्षक वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने अपने संपर्कों का इस्तेमाल करते हुए गम्हरिया डाक घर में अपने परिजनों व अन्य के नाम बिना दस्तावेज के ही खाता खुलवाया| इसमें पुराने नोटों को जमा कराया और बदले में नये नोटों की निकासी कर ली|  जालसाजी कर 21.5 लाख के रद्दी घोषित पुराने नोटों को बदलने की इस साजिश में गम्हरिया उप डाकघर के डाक सहायक सुरेंद्र प्रसाद चांद व ग्रामीण डाक सेवक सोनु कुमार भी शामिल हैं| जांच में पाया गया कि सभी खाते नोटबंदी के दौरान नौ नवंबर 2016 से 30 दिसंबर 2016 के दौरान खोले गये|

वीरेंद्र ने  17 नवंबर को  प्रिया के नाम  खाता संख्या 648976, अपनी पत्नी सरिता के नाम खाता संख्या 648977 और अपने नाम खाता संख्या 648978 खुलवाया| डाक अधीक्षक ने  18 नवंबर को अपने खाते में दो लाख रुपये का पुराना नोट जमा किया| प्रिया के खाते में 18 और 23 नवंबर को कुल 3.70 लाख रुपये जमा किये| पत्नी के खाते में भी 3.71 लाख रुपये जमा किये और बाद में निकाल लिये| डाक सहायक के सहयोग से अभिलाषा भारती के नाम पर 17 नवंबर 2016 को खाता संख्या 648983  खोला और उसमें दो लाख रुपये के पुराने नोट जमा कराये|

बाद में इस राशि से पत्नी सरिता और पुत्र अनुपम के नाम एनएससी (नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट) खरीद लिया| 23 नवंबर को  बेगुसराय निवासी संतोष पंडित और उसकी पत्नी ललिता देवी के नाम पर खाता खोला गया| इन खातों में दो-दो लाख रुपये जमा कराये गये और निकाल लिये गये| इन खातों में जमा करने के लिए पुराने नोट वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने ही दिये थे| इस डाक अधिकारी के अलावा सेवानिवृत्त जेल अधिकारी सुधीर चंद्र झा ने भी अपने और परिजनों के नाम खाता खोल कर नौ लाख रुपये का पुराना नोट जमा किया| जांच में पाया गया कि सुधीर चंद्र झा और कुमकुम कुमारी के नाम 22 नवंबर को खाता संख्या 648982 खोला गया और पुराने नोटों को जमा कर नया नोट निकाला गया|

पुराने नोट जमा करने का ब्योरा (लाख में):

      खाता धारक              खोलने की तिथि   राशि

  • वीरेंद्र श्रीवास्तव            17-11-2016          2.00
  • प्रिया श्रीवास्तव             17-11-2016          3.70
  • सरिता श्रीवास्तव          17-11-2016           3.70
  • ललिता देवी                 23-11-2016          2.00
  • संतोष पंडित               23-11-2016          2.76
  • अभिलाषा भारती        17-11-2016           2.00
  • सधीर झा व कुमकुम   22-11-2016           9.00

अभियुक्तों के नाम:

  • वीरेंद्र प्रसाद श्रीवास्तव, डाक अधीक्षक धनबाद(आरएमएस)
  • सुरेंद्र प्रसाद चांद, पोस्टल असिस्टेंट, गम्हरिया डाक घर
  • सोनु कुमार, ग्रामीण डाक सेवक
  • सुधीर चंद्र झा, सेवानिवृत्त जेल अधिकारी

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login