भेजी हुई मेल ट्रैक करें ऐसे

भेजी हुई मेल ट्रैक करें ऐसे

Email

हम जब भी किसी को ईमेल भेजते हैं तो मन में एक बात जरूर आती है कि वह मेल देखी गई होगी या नहीं। मगर अब आप जीमेल में यह जान सकते हैं। जानते हैं कैसे-

सबसे पहले आप क्रोम ब्राउजर में राइटइनबॉक्स (RightInbox) एक्सटेंशन डाउनलोड कर लें।
उसके बाद राइटइनबॉक्स डाउनलोड करने के बाद अपना जीमेल एकाउंट ओपन करें। जीमेल ओपन करने के बाद आपके सामने मेल को अलाउ करने का ऑप्शन आएगा, जिसे अलाउ कर दें।
अब बारी आती है मेल ट्रैक करने की तो उसके लिए आप उपरोक्त प्रक्रिया के बाद कंपोज मेल में जाएं।
कंपोज मेल में मेल लिखने के बाद ऊपर दिए गए विकल्पों में ट्रैक का बटन दिखेगा, जो मेल भेजने वाले बटन के साथ ही होता है।
मेल ट्रैक करने के लिए बस आपको उस मेल ट्रैक बॉक्स में टिक करना होगा।
अब जैसे ही दूसरी तरफ का व्यक्ति मेल ओपन करेगा, तुरंत आपके पास एक मेल आ जाएगी, जिससे आपको पता चल जाएगा कि मेल देख ली गई है।

टच स्क्रीन से आज भी बेहतर क्यों है कीपैड!
एक वक्त था, जब कीपैड वाले फोन ही मार्केट में थे। लोग भी इस फोन के अभ्यस्त थे और आसानी से उनकी उंगलियां उस पर थिरका करती थीं। अब टच स्क्रीन का दौर है। इन दिनों बहुत कम लोग कीपैड वाले फोन इस्तेमाल करते हुए देखे जाते हैं। मगर बहुत  कम लोग जानते हैं कि आज भी ऐसी कुछ वजहें जरूर हैं, जिनके कारण कीपैड टच स्क्रीन पर भारी पड़ता है। जानते हैं कैसे-

मान लीजिए आपको कहा जाए कि आंखें बंद कर आपको कुछ टाइप करना है तो क्या आप टच स्क्रीन से कर पाएंगे। वहीं टच स्क्रीन के मुकाबले कीपैड फोन में आप बिना देखे टाइप कर पाएंगे।
टच स्क्रीन फोन में कई दफा लोग यह शिकायत करते हैं कि कुछ भी मैसेज खुद ब खुद टाइप होने लगा और आपके दोस्तों को पहुंच गया। यह सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी का नतीजा होता है। वहीं कीबोर्ड वाले स्मार्टफोन में ऐसा कभी नहीं होता।
टच स्क्रीन यूजर और कीपैड यूजर को आप आसानी से देख कर पहचान सकते हैं। कीपैड यूजर जरूरत पड़ने पर ही फोन प्रयोग करेगा, लेकिन टच स्क्रीन यूजर के हाथ हमेशा फोन स्क्रीन पर लगे रहते हैं।
अगर आपके बड़े हाथ हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं, लेकिन बड़े हाथों से टच स्क्रीन फोन में फास्ट टाइपिंग करना मुश्किल भरा काम होता है। ऐसे में कीपैड स्मार्टफोन ही आपके काम आएगा।

You must be logged in to post a comment Login