बिजली बिल में नहीं हुआ सुधार, खर्च कर डाले पांच हजार

बिजली बिल में नहीं हुआ सुधार, खर्च कर डाले पांच हजार

16_09_2014-16nrj8-c-2

गलत बिजली बिल के सुधार के लिए आदमपुर हनुमाननगर निवासी परमानंद मिश्रा किराया भाड़ा में पांच हजार रुपये खर्च कर डाले। किंतु, अबतक उनके बिल में सुधार नहीं हुआ है। वो पिछले एक वर्ष से बिजली विभाग एवं निजी कंपनी के दफ्तर में बिल सुधरवाने के लिए चक्कर लगा-लगाकर थक चुके हैं। वो मंगलवार को से कचहरी चौक के समीप स्थित विद्युत कार्यालय में फ्रेंचाइजी कंपनी बीईडीसीपीएल के द्वारा आयोजित शिविर में बिल में सुधार के लिए पहुंचे हुए थे। उन्होंने बताया कि वर्ष 2013 में मीटर के पठन से 17 हजार यूनिट अधिक अंकित कर एक लाख 11 हजार रुपये का बिल भेजा गया था। बिल में सुधार के लिए 35 से 40 आवेदन दे चुका हूं। पांच हजार रुपये से अधिक वाहन भाड़ा में खर्च हो गया। किंतु, सुधार नहीं हुआ।

परमानंद जैसे सैंकड़ों लोग गलत बिजली बिल की समस्या से परेशान है। किंतु, इनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है। ऐसी ही समस्याओं के लिए बीईडीसीपीएल के द्वारा दो दिवसीय शिविर लगाया गया है। पहले दिन शिविर में बिल में गड़बड़ी, कनेक्शन, लोड, खराब मीटर बदलने से संबंधित 398 उपभोक्ताओं ने आवेदन सौंपा है। आवेदन देने वाले उपभोक्ताओं से केवाइसी फॉर्म भी भरवाया गया है। शिविर में सिर्फ तिलकामांझी मंडलीय विद्युत आपूर्ति क्षेत्र से जुड़े उपभोक्ताओं से ही आवेदन लिया गया। उचित व्यवस्था के अभाव में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

शिविर में पहुंची सीसी मुखर्जी रोड कोर्ट कंपाउंड की कौशल्या देवी का कहना था कि पिछले नौ माह से कार्यालय आकर डुप्लीकेट बिल लेना पड़ रहा है। बगैर मीटर रीडिंग के कभी 100 तो 110 यूनिट दिखाकर 700 से 800 रुपये बिल थमा दिया जाता है। नयाटोला प्रेमनगर निवासी प्रमोद लाल ने बताया कि जुलाई व अगस्त का 12,384 रुपये गलत बिल निर्गत किया गया है। जबकि जनवरी से जून के बीच औसतन 600 से 700 रुपये का बिल आता था।

बिजली बिल में बार-बार की गड़बड़ी से परेशान बरारी हाउसिंग कॉलोनी के उग्र मोहन मिश्रा ने कनेक्शन काटने के लिए आवेदन दिया। उन्होंने बताया डीपीएस समेत भुगतान किए जा चुके बिल को जोड़कर नया बिल भेज दिया जाता है। सुधार के लिए बार-बार कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है। इस बार 16 हजार रुपये का गलत बिल भेज दिया गया है।

बरारी हाउसिंग कॉलोनी की अहिल्या देवी ने कहा, तीन पंखा, तीन सीएफल व टीवी चलता है। जुलाई व अगस्त का 3588 रुपये का बिल भेज गया है। बिल में सुधार के लिए एक माह से चक्कर लगाकर परेशान हो चुकी हूं।

You must be logged in to post a comment Login