भारतीय स्पेलिंग उस्तादों के आगे ओबामा फेल

भारतीय स्पेलिंग उस्तादों के आगे ओबामा फेल

16_09_2014-obama16 (1)

 

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा दुनिया के सबसे ताकतवर लोगों में एक हो सकते हैं, लेकिन वह स्पेलिंग चैंपियन नहीं हैं। वह उन दो शब्दों की सही स्पेलिंग नहीं बता पाए, जिसकी चुनौती प्रतिष्ठित स्पेलिंग बी प्रतियोगिता के संयुक्त विजेता बने भारतीय अमेरिकी बच्चों ने उन्हें दी थी। उन्होंने इस साल के विजेताओं भारतीय मूल के श्रीराम जे हथवार और अंसुन सुजोए को ह्वाइट हाउस में आमंत्रित किया था।

ओबामा से मुलाकात के बाद न्यूयॉर्क के हथवार ने कहा, ‘वह [राष्ट्रपति] बेहद विनम्र हैं। मेरे विचार से वह इस पद के लिए बिल्कुल काबिल हैं।’ सुजोए और हथवार ने सोमवार को ओबामा से उनके ओवल दफ्तर में मुलाकात की। दोनों अपने माता-पिता के साथ राष्ट्रपति से मिलने गए थे। इस साल स्पेलिंग बी के संयुक्त विजेता हथवार [14] और अंसुन [13] को घोषित किए जाने के बाद ओबामा ने ट्वीट किया था, ‘नेशनल स्पेलिंग बी के विजेताओं अंसुन और श्रीराम को बधाई। आपने हमें गौरवान्वित किया है।’ ह्वाइट हाउस के बाहर अंसुन ने बताया, ‘राष्ट्रपति ने हमारा स्वागत किया। वह बहुत अच्छे हैं। उन्होंने हमें कुछ सलाह दी।’ अंसुन ने बताया कि हमारी तरह ओबामा भी दो शब्दों का सही जवाब नहीं दे पाए।

 

ओबामा ने दोनों भारतीय अमेरिकी बच्चों को अपनी किताब ‘ड्रीम, बिग ड्रीम्स’ भेंट की।

सात सालों से दबदबा

प्रतियोगिता पर पिछले सात सालों से भारतीय अमेरिकी ही कब्जा जमाते आ रहे हैं। इस प्रतियोगिता के 89 वर्षो के इतिहास में यह चौथा मौका है जब संयुक्त विजेता घोषित हुए। इसके पहले 1962, 1957 और 1950 में यह रिकार्ड बन चुका है। प्रतियोगिता में छात्रों की दिमागी ताकत, धैर्य और शब्दावली के ज्ञान की परख की जाती है।

18 लाख रुपये इनाम

न्यूयॉर्क निवासी श्रीराम [14] अल्टरनेटिव स्कूल फॉर मैथ एंड साइंस में कक्षा आठ में पढ़ता है जबकि टेक्सास का अंसुन [13] कक्षा सातवीं का छात्र है। श्रीराम और अंसुन को 30 हजार डॉलर [करीब 18 लाख रुपये] की नकद धनराशि, ट्राफी और दूसरे उपहार पुरस्कार स्वरूप प्रदान किए गए।

You must be logged in to post a comment Login