चैंपियंस लीग टी20: इन 12 धुरंधरों पर रहेंगी सबकी नजरें

चैंपियंस लीग टी20: इन 12 धुरंधरों पर रहेंगी सबकी नजरें

12_09_2014-raina31

चैंपियंस लीग टी20 के क्वॉलीफायर आज से शुरू हो जाएंगे और फिर 17 सितंबर से मुख्य राउंड का धमाल भी शुरू हो जाएगा। 4 अक्टूबर तक चलने वाले फटाफट क्रिकेट के इस अंतरराष्ट्रीय क्लब टूर्नामेंट में किन 12 खिलाड़ियों पर फैंस की नजरें सबसे ज्यादा टिकी रहेंगी। आइए जानते हैं..

1. एरोन फिंच (पर्थ स्कॉर्चर्स):

ऑस्ट्रेलिया के धुआंधार सलामी बल्लेबाज व हाल में अपनी राष्ट्रीय टीम के कप्तान बनने वाले एरोन फिंच चैंपियंस लीग टी20 में पर्थ टीम को मजबूती देने उतरेंगे। फिंच ही वो धुरंधर हैं जिनके दम पर स्कॉर्चर्स ने 2014 में ऑस्ट्रेलिया का टी20 टूर्नामेंट बिग बैश खिताब अपनी टीम के नाम कराया था। फिंच का 165 का स्ट्राइक रेट ही बताता है कि अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट में वो कितने घातक साबित हो सकते हैं।

2. रॉबिन उथप्पा (केकेआर):

आइपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए 2014 के सीजन में जबरदस्त धमाल मचाने वाले रॉबिन उथप्पा इस बार सभी की नजरों में रहेंगे। आइपीएल 2014 में उन्होंने 16 पारियों में 660 रन बनाकर धूम मचाई थी और काफी हद तक उनके दम पर ही उनकी टीम अपना दूसरा खिताब जीतने में सफल रही थी। ये वनडे टीम व टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम में भी वापसी करने के लिए उनके पास अच्छा मौका होगा।

3. ग्लेन मैक्सवेल (किंग्स इलेवन पंजाब):

आइपीएल 2014 में अगर किसी एक खिलाड़ी ने सबसे ज्यादा दिल जीते तो वो थे किंग्स इलेवन पंजाब के ग्लेन मैक्सवेल। काफी हद तक टूर्नामेंट की शुरुआत में उन्हीं के दम पर टीम को नया हौसला मिला और वे फाइनल तक पहुंचे। आइपीएल 2014 में मैक्सवेल ने तकरीबन 188 के स्ट्राइक रेट से 552 रन बनाए थे।

4. फैफ डु प्लेसिस (चेन्नई सुपरकिंग्स):

दक्षिण अफ्रीका का ये धुरंधर इस समय अपने करियर के सबसे शानदार दौर से गुजर रहा है। अपनी पिछली पांच अंतरराष्ट्रीय पारियों में वो तीन शतक और एक बार 96 का स्कोर भी बना चुके हैं। वो चेन्नई के मिडल ऑर्डर में जान भरेंगे।

5. जेसन होल्डर (बार्बडोस ट्राइडेंट्स):

जेसन इस बार किसी आइपीएल टीम से नहीं बल्कि अपनी वेस्टइंडीज की टीम बार्बडोस ट्राइडेंट्स के लिए खेलेंगे। वेस्टइंडीज और ट्राइडेंट्स दोनों की तरफ से खेलते हुए इस ऑलराउंडर ने हाल में अच्छा प्रदर्शन किया है और कैरेबियाई प्रीमियर लीग के अपने फॉर्म का फायदा वो यहां भी उठा सकते हैं।

6. मोर्ने वेन वाइक (डॉल्फिंस):

दक्षिण अफ्रीकी टीम डॉल्फिंस के प्रोटीज खिलाड़ी मोर्ने वेन वाइक टीम के कप्तान होने के साथ-साथ एक शानदार विकेटकीपर और सलामी बल्लेबाज भी हैं। बेशक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बाकी प्रारूपों में फैंस ने उनके ज्यादा किस्से न सुने हों लेकिन टी20 में उनका धमाल साफ देखने को मिलता है।

7. जेपी डुमिनी (केप कोबराज):

दक्षिण अफ्रीकी टीम के जेपी डुमिनी जितना चर्चा में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को लेकर रहते हैं उतना ही टी20 करियर को लेकर भी। फिर चाहे वो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो या फिर लीग स्तर पर। हाल में जिंबॉब्वे दौरे पर भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा है और उनकी टीम केप कोबराज भी चैंपियंस लीग की फेवरेट टीमों में से एक होगी।

8. सुरेश रैना (चेन्नई सुपरकिंग्स):

आइपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के सुरेश रैना ने हाल में वनडे सीरीज के दौरान इंग्लैंड में अपना जलवा जमकर दिखाया जिसमें एक तूफानी शतक भी शामिल था। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शतक जड़ने वाले वो एकमात्र भारतीय क्रिकेटर हैं और टी20 क्रिकेट में उनकी बल्लेबाजी कितनी घातक साबित होती है इसका अंदाजा हर गेंदबाज को है। चेन्नई की टीम के लिए वो बेहद खास थे और आगे भी रहने वाले हैं।

9. मोहम्मद हफीज (लाहौर लायंस):

पाकिस्तान की टीम लाहौर लायंस को आखिरकार भारत आकर जलवा बिखेरने का मौका मिल चुका है। इस टीम के सबसे जानदार खिलाड़ी व ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज चैंपियंस लीग टी20 में क्रिकेट फैंस की नजरों में रहेंगे। हफीज ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बार साबित किया है कि वो गेंदबाजी और बल्लेबाजी में तो माहिर हैं ही, साथ ही ये दोनों वो किसी भी स्थान पर करने में भी माहिर हैं। चाहे वो ओपनिंग या मिडिल ऑर्डर हो या फिर गेंदबाजी की शुरुआत करना हो।

10. ड्वेन स्मिथ (चेन्नई सुपरकिंग्स):

पिछले आइपीएल में चेन्नई के लिए उनके कैरेबियाई ओपनर ड्वेन स्मिथ से सभी की उम्मीद लगी थी और वो उस पर खरे भी उतरे। स्मिथ एक धमाकेदार शुरुआत देने में सक्षम हैं और चैंपियंस लीग टी20 के छोटे से कार्यक्रम में उनकी टीम को उनसे चाहिए भी यही होगा। धौनी की अगुआई वाली ये टीम अपने इस ओपनर पर काफी भरोसा करेगी।

11. मोर्ने मॉर्कल (केकेआर):

केकेआर के दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज मोर्ने मॉर्कल ने पिछले आइपीएल में अपनी टीम की जीत में अहम योगदान दिया था और इस बार भी उनसे उम्मीदें जुड़ी होंगी। लंबी कद-काठी वाले इस गेंदबाज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी पिछले कुछ सालों में शानदार प्रदर्शन करके दिखाया है।

12. सुनील नरेन (केकेआर):

अब तक ये सब जान चुके हैं कि वेस्टइंडीज के जादुई स्पिनर सुनील नरेन की जरूरत उनकी टीम को कितनी रहती है। गौतम गंभीर के लिए शायद नरेन की मौजूदगी में कम से कम चार ओवर तक तो मैच में दबाव कम लेना पड़ता है। नरेन ने केकेआर की दो आइपीएल खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाई है और इस बार भी वो चर्चा में रहेंगे।

12. लसिथ मलिंगा (मुंबई इंडियंस):

श्रीलंका के लसिथ मलिंगा टी20 प्रारूप में कितने घातक हो सकते हैं इसका अंदाजा उनके आंकड़ों को देखकर लगाया जा सकता है। ट्वंटी20 करियर में अब तक 198 मैचों में 264 विकेट ले चुके इस धुरंधर ने अपनी अगुआइ में श्रीलंका को विश्व कप चैंपियन भी बनाया है। ऐसे में उनके हौसले बुलंद होना लाजमी है।

You must be logged in to post a comment Login