किराया युद्ध में विदेशी विमानन कंपनियों के उतरने से यात्रियों की चांदी

किराया युद्ध में विदेशी विमानन कंपनियों के उतरने से यात्रियों की चांदी

air-service-CRJ200-fsx2

 

देश में एयर एशिया इंडिया, स्पाइसजेट, इंडिगो और जेट एयरवेज जैसी घरेलू विमानन कंपनियों के बीच जारी किराया युद्ध में अंतरराष्ट्रीय रूटो पर उड़ान भरने वाली विदेशी विमानन कंपनी एयर फ्रांस के सस्ते किराये की पेशकश से यात्रियों की चांदी हो गई है।

सस्ती हवाई सेवा देने वाली प्रमुख कंपनी एयर एशिया इंडिया के विमानों ने जुलाई में अपनी उड़ानों की शुरुआत ही 990 रुपये के किफायती किराये से करके घरेलू बाजार में किराया युद्ध का आगाज कर दिया कयोंकि इसके बाद अन्य विमानन कंपनियां स्पाइस जेट, इंडिगो और जेट एयरवेज भी इस होड़ में शामिल हो गई।

इसके ठीक बाद अंतर्राष्ट्रीय रूटो पर विमानन सेवा देने वाली एयरफ्रांस ने भारतीय यात्रियों को आकर्षित करने के उद्देश्य से बीते सप्ताह दक्षिण और मध्य अमेरिका के लिए किराये में 10 हजार रुपये तक की कमी करके हलचल मचा दी। कंपनी ने आज बताया कि उसने तीनों श्रेणी के किराये में कटौती की है जिससे किराये में 10 हजार रुपये तक की कमी आएगी।

इस पेशकश के तहत उसने इकोनोमी श्रेणी के किराये में चार हजार रुपये, प्रीमियम इकोनोमी में सात हजार रुपये और बिजनेस क्‍लास में 10 हजार रुपये की कमी की है जिसका लाभ सीमित अवधि और आनलाइन टिकट बुकिंग  पर उठाया जा सकता है।

इस पेशकश के तहत दो नवंबर तक ई-टिकट बुक की जा सकेगी और 31 मार्च 2015 तक इस पर यात्रा की जा सकेगी। एयर फ्रांस की यह पेशकश ऐसे समय में आई है जब कई एरयलाइनें इसी तरह की आफर पहले ही पेश कर चुकी है। खाड़ी और दक्षिण पूर्व एशिया से अमेरिका  यूरोप और ऑस्ट्रेलिया के किराये में कमी की गयी है।

You must be logged in to post a comment Login