एलपीजी की ग्राहक को जानिए प्रक्रिया की शुरुआत

एलपीजी की ग्राहक को जानिए प्रक्रिया की शुरुआत

14small~14~08~2014~1407991900_storyimage

आपके बारे में जानकारी हासिल करने मात्र से सरकार को सालाना दस हजार करोड़ रुपये की बचत हुई है। सरकार को यह बचत रसोई गैस पर होने वाले सब्सिडी खर्च पर हुई है। सरकार ने ‘ग्राहक को जानिए’ प्रक्रिया के तहत करीब डेढ़ करोड़ एलपीजी कनेक्शनों को रद्द किया है। इसके चलते सरकार को हजारों करोड़ रुपये की बचत हुई है।

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने करीब दो साल पहले ‘ग्राहक को जानिए’ (केवाईसी) प्रक्रिया शुरू की थी। इस प्रक्रिया का मकसद दोहरे कनेक्शन को बंद करना था। प्रक्रिया के तहत 87 लाख कनेक्शन बंद किए गए और सरकार को करीब तीन हजार करोड़ रुपये की बचत हुई। वहीं, 28 लाख लोगों को कनेक्शन लेने से रोका गया है।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, तेल कंपनियों ने आधार नंबर पर आधारित दोहरे कनेक्शन हटाने की प्रक्रिया भी शुरू की है। इसके तहत 6.18 लाख कनेक्शनों का पता चला है, जिन्होंने एक जैसा आधार नंबर जमा कराया है। इन कनेक्शनों को रद्द कर दिया जाता है, तो सालाना 102 करोड़ रुपए बचत होगी।

तेल कंपनियों ने एक नाम पर अलग-अलग कंपनियों से कनेक्शन लेने की प्रक्रिया की भी पहचान करने की शुरुआत की है। अभी तक 291 शहरों में प्रक्रिया को पूरा किया गया है। कंपनियों ने 1.13 करोड़ कनेक्शनों की पहचान की है, जो दोहरे कनेक्शन के दायरे में आते हैं। यदि इनमें से आधे कनेक्शन भी बंद कर दिए गए तो सरकार को 1,864 करोड़ की बचत होगी

You must be logged in to post a comment Login